परमाणु बम का आविष्कार किसने किया?

एक इंटरव्यू के दौरान सर स्टीफन हॉकिंग कहा कि यदि इस दुनिया का अंत हो सकता है तो बाद तीन कारण से ही हो सकता है जलवायु परिवर्तन आर्टिफिशियल इंवेंशन तीसरा परमाणु युद्ध कारण हो सकता है जिसमें से देखा जाए तो उन्होंने बताया कि शुरुआत में से दो ऑप्शन उन्होंने पता है वह सिर्फ सोचे जाने पर सवाल है लेकिन ऐसा होना आसान तरीके से संभव नहीं है यदि परमाणु युद्ध होता है तो दुनिया पर हर वस्तु का नाश हो जाएगा खान पान और शुद्ध सामग्री कुछ भी नहीं बचेगी जीवाणु की मृत्यु हो जाएगी

और कोई भी व्यक्ति नहीं बचेगा उस समय इसकी और प्रदूषण की वजह से हवा में उड़ने वाला प्रदूषण दुनिया को भी नष्ट कर देगा जहां तक जाएगा वहां तक दुनिया को नष्ट कर देगा और यह खतरनाक हो सकता है इस बारे में स्टीफन हॉकिंस ने कहा था हालांकि हम ऐसा नहीं चाहते कि इस तरह की कोई भी घटना धरती पर हूं लेकिन हम आपको इस लेख के जरिए बताना चाहते हैं की किसने परमाणु बम का आविष्कार किया है और कब क्या है?


इसके बारे में जाने से पहले हम आपको थोड़ी सी जानकारी और देना चाहेंगे जो आपके लिए जानना बेहद आवश्यक है परमाणु बम का उपयोग अमेरिका ने द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान जापान से यात्रा जापान के 2 शहरों में परमाणु बम गिराए गए थे जिसका नाम है हिरोशिमा और नागासाकी इन दो शहरों में परमाणु बम अमेरिका द्वारा कराए गए थे जिसके कारण लाखों करोड़ों लोगों की जान सिर्फ पलक झपकते ही चली गई ऐसा माना जाता है

उस बम गिरने की आवाज़ और वह दृश्य जितने भी लोगों ने देखा या सुना वह अंधे और बहरे हो गए यह सोचकर ही बहुत खतरनाक लगता है कुछ लोग उस पल को याद करके अभी भी बहुत डर जाते हैं पलक झपकते ही लोगों की जान चली गई और यह दोनों शहर पूरी तरह से नष्ट हो गया और 6 साल से चल रहा जापान और अमेरिका के बीच ज्योति युद्ध सिर्फ कुछ ही हफ्तों में समाप्त हो गया!आज तक लोगों बहुत परेशानी हो रहा है कि आज के समय में जापान टेक्नोलॉजी इन्वेंशन कि दुनिया में बहुत आगे निकल गया है

जापान में परमाणु बम घटना के साथ लंबे समय तक जापान को संभालना बहुत मुश्किल हो जाता है जापान ने सालों में सबसे ज्यादा तरक्की की है और अपने देश को सबसे ज्यादा इन्वेंशन देश घोषित कर दिया है सबसे ज्यादा इन्वेंशन जापान में होते हैं जो हर देश के मुकाबले सबसे ज्यादा शानदार और तैयार लगता है चलिए बताते हैं कि परमाणु बम का आविष्कार किसने किया था परमाणु बम का आविष्कार अमेरिका के Julius Robert Oppenheimer किया था जिनमें 1947 में मेक्सिको के त्रिनिटी नाम रेगिस्तान में परमाणु बम का परीक्षण किया था

और यह परीक्षण सफल हुआ माना जाता है कि यह परीक्षण इतना खतरनाक था कि मिलो दूर बैठे हुए वैज्ञानिक उसको देख कर घबरा गए और उन्होंने इस परमाणु बम को दुनिया को नष्ट करने वाला बम घोषित कर दिया और कहा वह जानलेवा हो सकता है यह दृश्य 16 किलो मीटर दूरी तक देखा जा सकता है और बताया जा रहा है इन दोनों वैज्ञानिकों के द्वारा की वह परिचय इतना खतरनाक था कि मानो सूरज खुद धरती पर गिर गया हो!

Leave a Comment